एक साल बाद भी नहीं मिली मजदूरी:वन विभाग ने मजदूरों से कोरे चेक पर साइन कराकर कहा-जल्द मिलेंगे; अमित जोगी बोले-पूरे प्रदेश में भ्रष्टाचार

पेंड्रा17 घंटे पहले

इसी इलाके में पिछले साल वृक्षारोपण किया गया था। - Dainik Bhaskar

छत्तीसगढ़ के गौरेला-पेड्रा-मरवाही(GPM) जिले में मजदूरी करने के एक साल बाद भी मजदूरों को उनकी मजदूरी नहीं मिली है। जिसकी वजह से वे काफी परेशान हैं। इन्होंने बताया कि हमसे कोरे कागज में साइन कराकर कहा गया था कि पैसे जल्द मिल जाएगा। मामला मरवाही वन मंडल का है।

मरवाही वनमंडल में भ्रष्टाचार के मामले पहले भी सामने आते रहे हैं। इस बीच नए मामला सामने आने के बाद एक बार फिर से वन विभाग पर सवाल खड़े हो रहे हैं। दरअसल, एक साल पहले धरहर ग्राम पंचायत में जामवंत परियोजना एवं रेल कॉरिडोर क्षतिपूर्ति वृक्षारोपण का कार्य किया गया था। इसमें धरहर के अलावा आस-पास के 100 ज्यादा लोगों ने काम किया था। तब इनसे कहा गया था कि काम होने के बाद आपको मजदूरी दे दी जाएगी। मगर इन्हें अब तक पैसा नहीं मिली है। बार-बार कहने के बाद भी किसी अधिकारी ने ध्यान नहीं दिया है।

पैसे नहीं मिलने से ग्रामीण परेशान हैं।

पैसे नहीं मिलने से ग्रामीण परेशान हैं।

अधिकारियों ने ले लिए पैसे

इस मामले में वन समिति के अध्यक्ष का आरोप है कि ग्रामीणों से कोरे चेक में साइन कराकर अधिकारियों ने खुद ही पैसा निकाल लिया है। उनका कहना है कि मटेरियल सप्लाई करने वालों को पैसा तुरंत दे दिया गया और भी संबंधित लोगों को पैसे दे दिए, लेकिन इन गरीब लोगों को पैसा अब तक नहीं दिया गया है। कई बार कहने के बाद भी कोई ध्यान नहीं दे रहा।

पूरे प्रदेश में भ्रष्टाचार -अमित जोगी

यह मामला सामने आने के बाद इस मुद्दे पर सियासत भी शुरू हो गई है। मरवाही के पूर्व विधायक और छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस जोगी के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने कहा है कि मरवाही के साथ-साथ ही पूरे प्रदेश में इस तरह का भ्रष्टाचार चल रहा है।

जल्द करेंगे भुगतान

वहीं मरवाही मंडल के डीएफओ संजय त्रिपाठी ने कहा है कि जहां भी शिकायत मिल रही है। वहां भुगतान करा रहे हैं। इस मामले में भी जल्द ही पता करके भुगतान कराएंगे।

UMESH NIRMALKAR

Leave a Reply

Next Post

न्यू ईयर सेलिब्रेशन पर ओमिक्रॉन ने लगाया ब्रेक:सामाजिक और धार्मिक आयोजनों में 50 फीसद उपस्थिति की अनुमति, प्रशासन की निगरानी में होंगे प्रोग्राम

Mon Dec 27 , 2021
कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के संक्रमण को रोकने के लिए जिला प्रशासन ने न्यू ईयर के साथ ही धार्मिक व सामाजिक आयोजनों पर एक बार फिर से ब्रेक लगा दिया है। किसी भी कार्यक्रमों में अब क्षमता के 50 फीसीद तक ही अनुमति रहेगी। ऐसे आयोजन पर कलेक्टर ने […]

You May Like

Breaking News