बिलासपुर में लग सकता है नाइट कर्फ्यू:कलेक्टर ने हेल्थ डिपार्टमेंट के साथ की इमरजेंसी मीटिंग; IMA ने स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्र बंद करने भी कहा

NEWS – UMESH NIRMALKAR [C.G BEURO]

बिलासपुर में तेजी से फैल रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए मंगलवार को कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर ने स्वास्थ्य विभाग के अफसरों व निजी अस्पताल के डॉक्टरों के साथ ही IMA की बैठक ली। इसमें उन्होंने कोरोना संक्रमण को देखते हुए अस्पताल में उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी ली और सुझाव भी मांगा। बैठक में IMA ने संक्रमण से निपटने के लिए स्कूलों व आंगनबाड़ी केंद्रों को बंद करने के साथ ही नाइट कर्फ्यू के लगाने की बात कही। कलेक्टर ने इस पर शीघ्र निर्णय लेकर आदेश जारी करने की बात कही है।

बिलासपुर में कोरोना का संक्रमण काफी तेजी से फैल रहा है। ऐसे में माना जा रहा है कि आने वाले समय में स्थिति और बिगड़ सकती है। इसके चलते जिला प्रशासन एक बार फिर से सख्त निर्णय लेने पर विचार कर रही है। मंगलवार को कलेक्टर ने स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी लेने व डॉक्टरों से सुझाव लेने के लिए बैठक बुलाई। इस दौरान उन्होंने जिले में संचालित शासकीय और निजी कोविड अस्पतालों में बिस्तरों की उपलब्धता और ऑक्सीजन की व्यवस्था के साथ ही दवाइयों को को लेकर चर्चा की।

बैठक में उन्होंने जिले में चल रहे वैक्सीनेशन पर जोर देने सभी अधिकारियों को निर्देशित किया। मीटिंग के दौरान उन्होंने सभी निजी अस्पताल संचालकों को ये हिदायत भी दी कि कोविड मरीजों का इलाज शासन द्वारा तय राशि पर ही किया जाना है। गड़बड़ी पाए जाने पर कड़ी कार्रवाई भी जा सकती है। बैठक में IMA की ओर से आने वाले दिनों में कोरोना का संक्रमण और तेजी से बढ़ने की आशंका जताई गई। लिहाजा, पदाधिकारियों ने एहतियात बरतते हुए स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्रों को बंद करने के साथ ही नाइट कर्फ्यू लगाने के सुझाव दिए। बैठक में CMHO डॉ. प्रमोद महाजन, IMA के पदाधिकारी और निजी अस्पताल के संचालकों के अलावा CIMS व जिला अस्पताल के चिकित्सक भी मौजूद रहे।
कलेक्टर बोले नाइट कर्फ्यू पर चल रहा विचार
बैठक के बाद कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर ने कहा कि जिले में नाइट कर्फ्यू लगाने का विचार चल रहा है। इसके साथ ही स्कूल व आंगनबाड़ी केंद्रों को भी बंद करने को लेकर चर्चा की जा रही है। आने वाले समय में व्यापारियों के साथ ही चेंबर ऑफ कॉमर्स के पदाधिकारियों की भी बैठक ली जाएगी। कोरोना संक्रमण से निपटने एहतियात के तौर पर नाइट कर्फ्यू लगाना जरूरी हो गया है।

सार्वजिनक कार्यक्रमों में भी लगेगा प्रतिबंध
कलेक्टर डॉ. मित्तर ने अब संक्रमण की स्थिति ने निपटने के लिए जिले में सार्वजनिक आयोजनों पर भी प्रतिबंध लगाने के संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि व्यापारियों के साथ ही चेंबर ऑफ कॉमर्स के पदाधिकारी, सामाजिक संगठन के पदाधिकारियों की बैठक बुलाई जाएगी। इसके साथ ही पुलिस अफसरों की बैठक लेकर कोरोना गाइडलाइन का पालन कराने के लिए अभियान चलाने पर जोर दिया जाएगा। ताकि, आने वाले समय में कोरोना संक्रमण की रफ्तार को कम किया जा सके।

UMESH NIRMALKAR

Leave a Reply

Next Post

SCHOOL CLOSE BREAKING: पहली से 12वीं तक के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूल रहेंगे बंद, जिला शिक्षा अधिकारी ने जारी किया आदेश

Tue Jan 4 , 2022
रायपुर। राजधानी रायपुर में शिक्षा विभाग ने कोरोना को देखते हुए बड़ा फैसला लिया है. कोरोना के चलते राजधानी के सभी स्कूल बंद कर दिए गए हैं. छात्रों का स्कूल में आना प्रतिबंधित रहेगा. शिक्षक स्कूल आएंगे, लेकिन छात्रों पर पाबंदी रहेगी. पहली से 12वीं तक की सभी कक्षाएं बंद कर […]

You May Like

Breaking News