मालगाड़ी के 18 डिब्बे ऊपर से गुजरे, बची जान:ट्रेन के नीचे से प्लेटफार्म पर जा रहे थे पटवारी कि गाड़ी चल पड़ी, खरोंच तक नहीं आई

0

जाको राखो साइयां, मार सके न कोय। कहते हैं जिसकी रक्षा भगवान कर रहा है। उसका मौत भी कुछ नहीं बिगाड़ सकती। यह कहावत बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के निपनिया रेलवे स्टेशन में उस समय चरितार्थ हो गई, जब एक पटवारी हड़बड़ी में मालगाड़ी के नीचे से गुजर रहे थे। तभी अचानक गाड़ी चल पड़ी। अपनी जान बचाने के लिए पटवारी पटरी पर लेट गए और उनके ऊपर से 18 बोगियां पार हो गई। इस खौफनाक मंजर का वीडियो भी सामने आया है। इस घटना में पटवारी को खरोच तक नहीं आई।

जानकारी के अनुसार हथबंद निवासी सेवकराम जोगांस 57 साल पटवारी हैं। वे रोज ट्रेन से आना-जाना करते हैं। दिवाली पर्व के चलते रविवार को अवकाश के दिन भी उन्हें काम था। लिहाजा, निपनिया आए थे। काम निपटाने के बाद दोपहर में वापस हथबंद जाने के लिए निपनिया स्टेशन पहुंचे थे। इस दौरान प्लेटफार्म नंबर 2 में ट्रेन आकर रूक गई।

उन्हें लगा कि उनकी ट्रेन आ गई है। लिहाजा, पटवारी जोगांस ट्रेन छूटने की हड़बड़ी में कोयले से भरी मालगाड़ी के नीचे से पटरी पार करने लगे। तभी अचानक मालगाड़ी आगे बढ़ने लगी। इस दौरान अपनी जान बचाने के पटवारी पटरी पर ही लेट गए। देखते ही देखते उनके ऊपर से मालगाड़ी की 18 बोगियां गुजर गई। इस खौफनाक मंजर को देखकर प्रत्यक्षदर्शी राजेंद्र गुप्ता ने स्टेशन मास्टर को मालगाड़ी रूकवाने का आग्रह किया। स्टेशन मास्टर ने वायरलेस सेट से पाइंट देकर तत्काल ट्रेन रूकवाया। तब पटवारी मालगाड़ी के नीचे पटरी से बाहर निकले।

स्टेशन मास्टर की सक्रियता से बच गई जान

बताया जा रहा है कि न्यूवोको सीमेंट कंपनी के निपनिया साइडिंग में कार्यरत राजेंद्र गुप्ता काम निपटाकर लौट रहे थे। उन्होंने गुजरती ट्रेन के नीचे पटवारी को देखा। तब उनकी सांस थम गई। उन्होंने आनन-फानन में स्टेशन मास्टर को मालगाड़ी रूकवाने के लिए कहा और घटना की जानकारी दी। स्टेशन मास्टर ने भी सक्रियता दिखाई और वाकी टॉकी से लोकोपायलट से संपर्क कर ट्रेन रूकवाया। तब तक 18 बोगी पटवारी के ऊपर से गुजर गई थी। अपनी जान बचाने के लिए पटवारी के साथ ही प्रत्यक्षदर्शी राजेंद्र गुप्ता व स्टेशन मास्टर की तत्परता की तारीफ करते रहे।

इसलिए आप भी रहें सावधान, पटरी पर रखें ध्यान

रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म में पटरी पार नहीं करने व सावधान रहने की अपील करते हुए एलाउंसमेंट हमेशा होती रहती है। फिर यात्री हड़बड़ी में इस तरह की लापरवाही कर बैठते हैं। इसके चलते यात्री हादसे का शिकार भी होते हैं। इस स्थिति में सभी यात्रियों को पटरी पार करते समय सावधान रहना चाहिए। कोशिश करनी चाहिए कि पटरी या फिर खड़ी मालगाड़ी के नीचे से नहीं गुजरें। नहीं तो हादसे का शिकार हो सकते हैं।

NEWS – UMESH NIRMALKAR

%d bloggers like this: