रिश्‍वत लेते चार अधिकारी गिरफ्तार,किसी ने सड़क निर्माण कार्य का बिल भुगतान करने दो लाख तो किसी ने ऋण पुस्तिका बनाने के एवज में मांगे छह हजार रुपये। ,

0

रिश्‍वत लेते चार अधिकारी गिरफ्तार,किसी ने सड़क निर्माण कार्य का बिल भुगतान करने दो लाख तो किसी ने ऋण पुस्तिका बनाने के एवज में मांगे छह हजार रुपये 

छत्‍तीसगढ़ में रिश्‍वत लेते चार कर्मचारियों को इओडब्‍ल्‍यू/एसीबी की टीम ने रंगे हाथों पकड़ा है। इन चार कर्मचारियों में किसी ने सड़क निर्माण कार्य का बिल भुगतान करने के बदले दो लाख मांगे थे तो किसी ने जमीन का प्रमाणीकरण व ऋण पुस्तिका बनाने के एवज में छह हजार की मांग की थी। इन सभी आरोपितों के खिलाफ भ्रष्‍टाचार निवारण अधिनियम 1988 के तहत मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

जानकारी के मुताबिक मुख्‍यमंत्री ग्राम सड़क योजना के कार्यपालन अभियंता बेमेतरा ने पहुंचमार्ग के आंशिक पूर्ण कार्य की रनिंग बिल निकालने के लिए दो लाख रुपये रिश्‍वत मांगे थे। प्रार्थी की शिकायत की पुष्टि कर एसीबी रायपुर की टीम ने सोमवार को कार्रवाई की। कार्रवाई के दौरान आरोपित दीनदयाल जायसवाल (60) निवासी न्‍यू शांति नगर रायपुर को 20 हजार रुपये रिश्‍वत लेते पचपेड़ी नाका स्थित हनुमान मंदिर के पास पकड़ा।

इसी तरह एक अन्‍य मामले में सूरजपुर जिले के धरमपुर में स्थित शासकीय उच्‍चतर माध्‍यमिक स्‍कूल के प्राचार्य द्वारा प्रार्थी से सातवें वेतनमान और समयमान की एयरिर्स राशि के साथ ही एक माह के वेतन का भुगतान करने के बदले 8,000 रुपये रिश्‍वत मांगे थे।

प्रार्थी ने साढ़े 5,000 रुपये पहले ही दे दिए थे। इसके बाद शिकायत की पुष्टि कर एसीबीएसीबी अंबिकापुर की टीम ने सोमवार को कार्रवाई कर आरोपित शीवधर ओझा (57) निवासी प्रतापपुर कदमपारा को 2,500 रुपये रिश्‍वत लेते रंगे हाथ पकड़ा।

एक अन्‍य मामले में दुर्ग जिले ग्राम कचांदुर पटवारी हल्‍का नंबर 17 के पटवारी उसके सहयोगी द्वारा खरीदे गए जमीन के प्रमाणीकरण और ऋण पुस्तिका जारी करने के बदले छह रिश्‍वत की मांग की गई थी।

प्रार्थी की शिकायत पर एसीबीएसीबी रायपुर की टीम ने कार्रवाई के दौरान आरोपित प्रमोद कुमार श्रीवास्‍तव (47) निवासी सेक्‍टर 2 भिलाई दुर्ग और सहयोगी लेखराम निषाद (30) निवासी दुर्ग जिले के छावनी थाना क्षेत्र के जामुल गांव को पटवारी कार्यलय ग्राम पंचायत ढौर (क) दुर्ग में 5,500 रुपये रिश्‍वत लेते पकड़ा।

%d bloggers like this: